( Best ) विलोम शब्द की परिभाषा और प्रकार Vilom Shabd

विलोम शब्द | Vilom Shabd

विलोम शब्द की परिभाषा

हर शब्द का एक निश्चित अर्थ या मतलब होता है. उस अर्थ का विपरीत या उलटा अर्थ देने वाले शब्दों को विलोम शब्द कहते हैं. विलोम शब्दों को विपरीतार्थक शब्द या अंग्रेज़ी में Opposite Words भी कहा जाता है.

विलोम शब्द की परिभाषा

विलोम शब्द के प्रकार 

हिन्दी में किसी भी शब्द का विपरीतार्थ (विलोम) शब्द बनाने के मुख्य रूप से पांच भेद बताए गए हैं:

1. लिंग परिवर्तन द्वारा : किसी भी शब्द का मूल लिंग (Gender) बदल कर उसका विलोम शब्द तय किया जाता है. जैसे कि दिन का विलोम शब्द रात, शेर का शेरनी, राजा-रानी, बूढ़े – बुढ़िया आदि.

2. भिन्न जाति या वर्ग के शब्द द्वारा: कुछ शब्द जिनके निश्चित अर्थ एक दूसरे के परस्पर विरोधी भाव रखते हैं. जैसे कि हार – जीत, अच्छा – बुरा, पाप – पुण्य, उल्टा – सीधा, आज़ाद – ग़ुलाम, विष – अमृत, अंधकार – उजाला इत्यादि.

3. उपसर्ग जोड़कर: किसी शब्द के आगे उपसर्ग लगाकर उसका विपरीत अर्थ देने वाला शब्द बनाया जाता है. जैसे कि घात – प्रतिघात, स्वस्थ – अस्वस्थ, सामान – असमान आदि.

4. उपसर्ग बदल-कर: किसी भी शब्द के आगे लगे उपसर्ग को बदलकर उस शब्द का अर्थ बदल जाता है. जैसे कि उत्तीर्ण – अनुतीर्ण, इच्छा – अनिच्छा, उत्कर्ष – अपकर्ष, आदान – प्रदान आदि.

5. नञ् समास (नहीं अर्थ वाले शब्द) जोड़कर: किसी शब्द के आगे ऐसे शब्द या अक्षर जोड़कर जिनका अर्थ ‘नहीं’ होता है. जैसे कि अंत – अनंत, आदि – अनादि, सुविधाजनक – असुविधाजनक, संभव – असंभव आदि.

विलोम शब्दों से जुड़े महत्वपूर्ण नियम |
  • किसी भी शब्द का विलोम शब्द उसी श्रेणी का होगा जिस श्रेणी का दिया गया शब्द है जैसे कि अगर कोई शब्द ‘तत्सम’ है तो उसका विपरीत शब्द भी ‘तत्सम’ ही होगा. इसी प्रकार किसी ‘तद्भव’ शब्द शब्द का विलोम भी ‘तद्भव’ ही होगा. उदाहरण के लिए स्त्री का विलोम शब्द पुरुष होगा लेकिन औरत का विलोम शब्द ‘आदमी’ होगा.
  • किसी भी शब्द का विलोम उसके मूल के अनुसार ही होना चाहिए जैसे कि अगर कोई शब्द संज्ञा है तो उसका विलोम शब्द भी संज्ञा ही होगा. किसी विशेषण का विपरीत शब्द भी विशेषण होगा. उदाहरण के लिए खुश का विलोम शब्द दुःख होगा वही खेद का विपरीत प्रसन्न होगा.
विलोम शब्द के उदहारण 
अकलुष – कलुष
अग्राह्य – ग्राह्य
अग्रज – अनुज
अगला – पिछला
अग्रिम – अन्तिम
अचल – चल
अजल -निर्जल
वृष्टि – अनावृष्टि          
अनंत – अंत
अति -अल्प
अथ – इति
अतुकान्त – तुकान्त
अतिवृष्टि – अनावृष्टि
अनाहूत – आहुत
अनुकूल – प्रतिकूल
अनुरक्ति -विरक्ति
अनित्य – नित्य
अनुलोम- – विलोम
अनभिज्ञ- – भिज्ञ
अभिज्ञ – अनभिज्ञ
उर्वर – ऊसर
एक – अनेक
आलस्य – स्फूर्ति
अर्थ – अनर्थ
उधार – नगद
उत्कृष्ट – निकृष्ट
उत्तम – अधम
आदर्श – यथार्थ
आय – व्यय
स्वाधीन – पराधीन
आहार – निराहार
दाता – याचक
खेद – प्रसन्नता
गुप्त – प्रकट
प्रत्यक्ष – परोक्ष
घृणा – प्रेम
सजीव – निर्जीव
सुगंध – दुर्गन्ध
मौखिक – लिखित
रुग्ण – स्वस्थ
रक्षक – भक्षक
वरदान – अभिशाप
शुष्क – आर्द्र
हर्ष – शोक
क्षणिक – शाश्वत
विधि – निषेध
विधवा – सधवा
शयन – जागरण
शीत – उष्ण
सक्रिय – निष्क्रय
सफल – असफल
सज्जन – दुर्जन
शुभ – अशुभ
अंतिमप्रारंभिक
अनजानजाना-पहचाना
आदिअंत
आगामीगत
आग्रहदुराग्रह
आकर्षणविकर्षण
आदानप्रदान
आलस्यस्फूर्ति
आदर्शयथार्थ
आयव्यय
आहारनिराहार
आविर्भावतिरोभाव
आमिषनिरामिष
आर्द्रशुष्क
आज़ादीग़ुलामी
आकाशपाताल
आशानिराशा
आश्रितनिराश्रित
 

 

आरंभअंत
आदरअनादर
आयातनिर्यात
आर्यअनार्य
आदिअनादि
आस्तिकनास्तिक
आवश्यकअनावश्यक
आनंदशोक
आधुनिकप्राचीन
आनाजाना
आलस्यफुर्ती
आध्यात्मिकभौतिक
इच्छाअनिच्छा
इष्टअनिष्ट
इच्छितअनिच्छित
इहलोकपरलोक
उत्कर्षअपकर्ष
उत्थानपतन
उद्यमीआलसी
उर्वरऊसर
उधारनक़द
उपस्थितअनुपस्थित
उत्कृष्टनिकृष्ट
उपजाऊबंजर
उदयअस्त
उपकारअपकार
उदारअनुदार
उत्तीर्णअनुत्तीर्ण
उत्तरदक्षिण
ऊंचानीचा
उन्नतिअवनति
उचितअनुचित
उत्तरार्द्धपूर्वार्द्ध
एकताअनेकता
एकअनेक
ऐसावैसा
औपचारिकअनौपचारिक
कृतज्ञकृतघ्न
क्रयविक्रय
कमानाखर्च करना
क्रूरदयालु
कच्चापक्का
कटुमधुर
क्रियाप्रतिक्रिया
कड़वामीठा
क्रुद्धशान्त
कर्मनिष्कर्म
कठिनाईसरलता
कभी-कभीअक्सर
कठिनसरल
केंद्रितविकेंद्रित
क़रीबीदूर के
कमअधिक
खेदप्रसन्नता
खिलनामुरझाना
खुशीदु:ख
ख़रीददारविक्रेता
ख़रीदबिक्री
ख़रीदनाबेचना

 

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *